Kanjhawala Death Case: मृतका अंजलि के घर पहुंचे मनीष सिसोदिया, परिवार को 10 लाख की मदद देने का किया एलान

Kanjhawala Death Case: मृतका अंजलि के घर पहुंचे मनीष सिसोदिया, परिवार को 10 लाख की मदद देने का किया एलान

रिपोर्टर पूर्णिमा तिवारी

नई दिल्ली,  नव वर्ष पर दिल्ली के सुल्तानपुरी थाना क्षेत्र में सड़क हादसे में हुई अंजलि की मौत को लेकर लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है। साथ ही इस मामले को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है।

ताजा मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज बुधवार को मृतका के घर पहुंचकर स्वजन से मुलाकात की है।इस दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिया है।

साथ ही पुलिस से आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। इस दौरान उन्होंने कहा, “वह अपने परिवार की अकेली कमाने वाली थी। उसके परिवार को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे

और उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का प्रयास किया जाएगा। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के बजाय विपक्ष को नष्ट करने के लिए सभी शक्तियों का उपयोग कर रही है।”

‘सुल्तानपुरी कांड पर राजनीति कर रही आप

भाजपा ने आम आदमी पार्टी (आप) पर सुल्तानपुरी की घटना को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है। भाजपा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा का कहना है कि आप नेता इस संवेदनशील मामले पर राजनीति से प्रेरित बयानबाजी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपनी पार्टी के नेताओं को गलत बयानबाजी करने से रोकना चाहिए।

उन्होंने मीडिया से कहा कि पिछले दो दिनों से आप नेता दिल्ली के उपराज्यपाल और दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी के विरूद्ध व्यक्तिगत टिप्पणी कर रहे हैं। उपराज्यपाल ने दिल्ली के हित में अनेक निर्णय लिए हैं। उनके प्रयास से यमुना नदी के किनारों एवं नजफगढ़ ड्रेन की सफाई सहित कई विकास कार्यों में तेजी आई है।

तिहाड़ जेल में मंत्री सत्येंद्र जैन को मिल रही विशेष सुविधा पर रोक लगाने के साथ ही शराब घोटाले सहित अन्य विभागों की अनियमितता की जांच के आदेश दिए हैं। अपनी धूमिल होती छवि से परेशान हो आप नेता उपराज्यपाल पर आक्षेप लगा रहे हैं।

तिहाड़ जेल में मंत्री सत्येंद्र जैन को मिल रही विशेष सुविधा पर रोक लगाने के साथ ही शराब घोटाले सहित अन्य विभागों की अनियमितता की जांच के आदेश दिए हैं। अपनी धूमिल होती छवि से परेशान हो आप नेता उपराज्यपाल पर आक्षेप लगा रहे हैं।इसी तरह से लगभग तीन साल पहले आप विधायकों द्वारा मुख्य सचिव से मारपीट के मामले की जांच करने वाले पुलिस अधिकारी के खिलाफ भी गलत बयानबाजी की जा रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस सुल्तानपुरी मामले की जांच कर रही है। उम्मीद है कि जल्द ही यह मामला सुलझ जाएगा। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल के साथ ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुल्तानपुरी की घटना को गंभीरता से लिया है। दिल्ली भाजपा ने भी इसे मात्र दुर्घटना नहीं हत्या का मामला कहा है। आप नेताओं को इस संवेदनशील मामले पर राजनीति करने की जगह पुलिस को निष्पक्षता से जांच करने देना चाहिए।

इस दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिया है। साथ ही पुलिस से आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। इस दौरान उन्होंने कहा, “वह अपने परिवार की अकेली कमाने वाली थी। उसके परिवार को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे और उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का प्रयास किया जाएगा। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के बजाय विपक्ष को नष्ट करने के लिए सभी शक्तियों का उपयोग कर रही है।”

पीड़ित परिवार से मिले भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर

इससे पहले मंगलवार दोपहर को भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद किरन विहार पहुंचे और अंजलि की मां से मुलाकात की थी। करीब आधे घंटे की मुलाकात के बाद बाहर निकले चंद्रशेखर ने कहा था कि पुलिस को इस मामले में आरोपितों के खिलाफ कठोर कदम उठाने चाहिए। मैं दिल्ली पुलिस को बहुत अच्छा मानता हूं, लेकिन इस मामले में लापरवाही हुई है। अगर 31 दिसंबर की रात में भी सुरक्षा नहीं होगी तो आखिर सुरक्षा कब होगी। पुलिस ने हल्की धाराओं में मामले को दर्ज किया है। हम पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं।

दिल्ली सरकार देगी 10 लाख का मुआवजा

सुल्तानपुरी कांड का शिकार हुई अंजलि के परिवार को दिल्ली सरकार 10 लाख रुपये का मुआवजा देगी। इसकी घोषणा मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की थी। साथ ही केजरीवाल ने कहा था कि इस दुख की घड़ी में दिल्ली सरकार पीड़िता के परिवार के साथ खड़ी है। भविष्य में भी दिल्ली सरकार पीड़िता के परिवार की कानूनी व जरूरत अनुरूप मदद करेगी।

खबरें और भी हैं...