8वीं मंजिल से गिर रही बेटी को आखिरी सांस तक बचाने की कोशिश

8वीं मंजिल से गिर रही बेटी को आखिरी सांस तक बचाने की कोशिश करता रहा पिता, एक साथ दोनों की हुई दर्दनाक मौत

प्रधान संपादक आशीष सिंह

पुणे से दर्दनाक खबर सामने आ रही है। यहां इमारत की 8वीं मंजिल से गिरकर पिता-पुत्री की मौत हो गई। पिता की उम्र 33 साल और बेटी की उम्र ढाई साल है। दरअसल, बच्ची 12वीं मंजिला इमारत के 8वें फ्लोर की रेलिंग पर बैठी थी।

तभी उसका बैलेंस बिगड़ गया। पिता पास में ही थे। वे उसे बचाने की कोशिश करने लगे। वे किसी भी हाल में अपनी आंखों के सामने अपनी बच्ची को खोना नहीं चाहते थे। वे आखिरी सांस तक उसे बचाने की कोशिश करते रहे मगर दोनों की गिरकर मौत हो गई। जब हादसा हुआ बच्ची की मां घर के अंदर थी। वे अभी बेसुध हैं। यह हादसा रविवार दोपहर करीब 12.30 बजे देहु के इंद्रायणी वाटिका में एक सोसाइटी में हुआ। घटना से आस-पास के लोगों में शोक है।

 

सीसीटीवी फुटेज में बिल्डिंग से गिरते दिखे पिता और बेटी

 

इस मामले में देहु रोड पुलिस के वरिष्ठ निरीक्षक दिगंबर सूर्यवंशी ने मीडिया से कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि मौत की वजहों में कोई गड़बड़ी नहीं है। बच्ची तृषा लागड़ जब एक दीवार पर बैठ रही थी तो उसका बैलेंस बिगड़ गया। उसके पिता रमेश ने उसे बचाने की कोशिश की मगर वे भी उसके साथ ही गिर गए। अधिकारी ने आगे कह कि सोसायटी के ग्राउंड फ्लोर से सीसीटीवी फुटेज हासिल किया गया है। जिसमें दोनों को बिल्डिंग से गिरते हुए देखा जा सकता है।

 

हादसे से पहले दोनों पार्क में खेल रहे थे

 

रमेश लागड़ इंडियन आर्मी में क्लर्क के पद पर पोस्टेड थे। लगड़ परिवार पिछले डेढ़ साल से इंद्रायणी वाटिका सोसायटी में रह रहा है। स्थानीय निवासियों ने पुलिस को बताया कि रविवार दोपहर लागड़ अपनी बेटी के साथ सोसायटी के पार्क में खेल रहा था। कुछ देर बाद दोनों बिल्डिंग की आठवीं मंजिल पर अपने फ्लैट में चले गए।

 

उन्होंने कहा कि निवासियों ने दोपहर करीब 12.30 बजे जोरदार आवाज सुनी और देखा कि लागड़ और उसकी बेटी डक्ट में बेहोश पड़े हैं। अधिकारी ने कहा कि आस-पास के लोग फौरन दोनों को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूर्यवंशी ने कहा कि फिलहाल हमने इस संबंध में आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया है। मामले में आगे की जांच की जाएगी।

खबरें और भी हैं...