सुखदेव सिंह हत्‍याकांड का CCTV फुटेज, मिलने के बहाने घर में घुसे थे हमलावर

सुखदेव सिंह हत्‍याकांड का CCTV फुटेज, मिलने के बहाने घर में घुसे थे हमलावर
यपुर. राष्‍ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्‍या का सीसीटीवी फुटेज सामने आ गया है. मिलने के बहाने चार से पांच हमलावर घर में घुसे थे. उन्‍होंने करीब 10 मिनट घर में बिताए और फिर गोली मारकर उनकी हत्‍या कर दी.

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को गोली श्यामनगर इलाके में उनके घर में घुसकर मारी गई है. उसके बाद उनको मेट्रो मास अस्पताल में ले जाया गया. वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच तेज कर दी है.

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने करणी सेना चीफ की हत्‍या पर न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से कहा, “रिपोर्ट के अनुसार चार-पांच हमलावर गोगामेड़ी के घर में घुसे और गोलियां चला दीं. गोलियां लगने से गोगामेड़ी, उनके एक गार्ड एवं एक अन्य व्यक्ति घायल हो गए.” जयपुर के पुलिस आयुक्त बीजू जार्ज जोसेफ ने इस बात की पुष्टि की कि इलाज के दौरान गोगामेड़ी की मौत हो गई.
लॉरेंस बिश्‍नोई गैंग से मिली थी धमकी
बता दें कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को पिछले दिनों लॉरेंस बिश्नोई गैंग के संपत नेहरा से धमकी मिली थी. उन्होंने जयपुर पुलिस को भी धमकी की जानकारी दी थी. बता दें कि इस साल की शुरुआत में जून में, मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में करणी सेना का एक स्थानीय पदाधिकारी रहस्यमय परिस्थितियों में अपनी कार में गोली लगने से मृत पाया गया था.
क्‍या है करणी सेना?
करणी सेना का गठन साल 2006 में हुआ था. यह मूल रूप से राजपूत समाज द्वारा बनाया गया संगठन है, जो राजस्थान पर आधारित है. यह कोई राजनीतिक संगठन नहीं है. हालांकि लोगों के बीच गहरी पकड़ होने के चलते राजनीतिक दलों के बीच करणी सेना की मजबूत पकड़ है. संगठन का नाम करणी माता के नाम पर रखा गया था, जिन्हें उनके अनुयायियों द्वारा हिंगलाज माता का अवतार माना जाता है. मौजूदा वक्‍त में करणी सेना के कुल तीन धड़े हैं, जिसमें से एक राष्‍ट्रीय राजपूत करणी सेना है.

खबरें और भी हैं...