श्रद्धा          वालकर        हत्या                                                    में            नया             मोड़

श्रद्धा          वालकर        हत्या

में            नया             मोड़

मुंबई आशीष सिंह

श्रद्धा वालकर मर्डर : ‘बेटी के ड्रग्स लेने के बारे में नहीं पता’, पिता ने पत्नी को मारने की बात से भी किया इनकार
श्रद्धा वालकर के पिता ने शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत के सामने इस बात से इनकार किया कि उन्होंने अपने दो बच्चों के सामने अपनी पत्नी को पीटा था और पत्नी को पीटने के कारण को लेकर उनका बेटी के साथ संवाद हुआ था.
श्रद्धा वालकर की मां का अब निधन हो चुका है. श्रद्धा वालकर के पिता विकास मदन वालकर ने अपनी बेटी के एलएसडी (लिसेर्जिक एसिड डायथाइलैमाइड) का सेवन करने के बारे में कोई जानकारी होने से भी इनकार किया, जो एक सिंथेटिक रसायन आधारित मादक पदार्थ होता है.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश मनीषा खुराना कक्कड़ के समक्ष आरोपी आफताब अमीन पूनावाला के वकील द्वारा अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में श्रद्धा वालकर के पिता विकास मदन वालकर से जिरह की जा रही थी. पूनावाला पर पिछले साल 18 मई को अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की गला घोंटकर हत्या करने और उसके शव के टुकड़े करने का आरोप है.

बचाव पक्ष के वकील अक्षय भंडारी श्रद्धा वालकर और पूनावाला की एक मनोवैज्ञानिक से बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग के आधार पर विकास वालकर से जिरह कर रहे थे. पूरी वीडियो रिकॉर्डिंग अभी तक अदालत में नहीं चलाई गई है. बचाव पक्ष के वकील ने सवाल किया, ‘क्या आपने अपनी पत्नी को बच्चों के सामने पीटा था जब वे छोटे थे? क्या आप जानते हैं कि आपकी बेटी एलएसडी का सेवन करती थी? क्या यह आपकी जानकारी में है कि श्रद्धा ने काउंसलर को बताया था कि आप अपनी पत्नी को पीटते थे और इसलिए, वह परेशान थी?’

विकास वालकर ने सभी सवालों का ना में जवाब दिया. इस सवाल पर कि ‘क्या श्रद्धा ने कभी आपसे बात की कि आप अपनी पत्नी को क्यों पीटते थे?’ वालकर ने कहा, ‘मैंने कभी अपनी बेटी से इस बारे में बात नहीं की.’ विशेष लोक अभियोजक मधुकर पांडे ने सवाल पर आपत्ति जताते हुए कहा, ‘यह संकेतात्मक प्रकृति का था क्योंकि इसमें कुछ संकेत शामिल थे.’

भंडारी ने सवाल किया, ‘क्या यह आपकी जानकारी में है कि आपकी बेटी कक्षा 7 में फेल हो गई क्योंकि घर में माहौल खराब था क्योंकि आप अपनी पत्नी को पीटते थे?’ इस पर विकास वालकर ने कहा, ‘मेरी बेटी क्लास में फेल नहीं हुई थी. श्रद्धा को एक विषय में कम अंक मिले थे.’ बचाव पक्ष के वकील ने विकास वालकर से पूछा कि क्या उन्हें पता था कि उनकी बेटी को ‘मतिभ्रम की समस्या’ है, तो उन्होंने ‘ना’ में जवाब दिया.

आगे की जिरह के लिए मामले की अगली सुनवाई सोमवार को करना तय किया गया. इस बीच, पीड़िता के भाई श्रीजय विकास वालकर से जिरह शुक्रवार को पूरी हो गई. पूनावाला ने श्रद्धा वालकर का कथित तौर पर गला घोंटने के बाद, उसके शव के टुकड़े करके उन्हें दक्षिणी दिल्ली के महरौली स्थित अपने किराए के मकान में फ्रिज में लगभग तीन सप्ताह तक रखा. बाद में उसने टुकड़ों को राष्ट्रीय राजधानी में विभिन्न स्थानों पर फेंक दिया था.

खबरें और भी हैं...