शिक्षा सेक्टर के अन्तर्गत बेसिक शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक

शिक्षा सेक्टर के अन्तर्गत बेसिक शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक

रिपोर्ट- डा.बीरेन्द्र सरोज आजमगढ

आजमगढ़ 16 जनवरी– जिलाधिकारी श्री विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शिक्षा सेक्टर के अन्तर्गत बेसिक शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रत्येक माह कम से कम 40 विद्यालयों का निरीक्षण कर विद्यालयों का फीडबैक प्रेरणा पोर्टल पर अपडेट करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान बच्चों की उपस्थिति, विद्यालय भवन में कायाकल्प की स्थिति, निपुण भारत में बच्चों के ज्ञान का आकलन की जांच करें। इसी के साथ ही आधारशीला संदर्शिका के अनुसार शिक्षकों के द्वारा 5 योजना बनाकर कक्षाओं में संचालित करायें एवं प्राथमिक/उच्च प्रा0विद्यालयों में टीचर लर्निंग मैटेरियल का उपयोग शत प्रतिशत कराना सुनिश्चित करें।
विद्यालयों में कायाकल्प के अन्तर्गत रंगाई, पुताई, विद्युतीकरण, मल्टीपल हैण्डवॉश, ब्लैकबोर्ड की प्रगति खराब पाये जाने पर जिलाधिकारी ने बीएसए को निर्देश दिये कि संबंधित खण्ड शिक्षा अधिकारियों से उक्त कार्य शत प्रतिशत पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये कि संबंधित ब्लाक के अन्तर्गत समस्त विद्यालयों में कक्षा 1 व 6 में नामांकित पात्र लाभार्थियों को कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत 10 दिन के अन्दर पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारी बीएसए को इसका प्रमाण पत्र उपलब्ध करायें कि विद्यालयों में कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत किसी भी पात्र लाभार्थी का पंजीकरण कराना अवशेष नही है।
जिलाधिकारी ने बीएसए को निर्देश दिये कि कम्प्युटर, ब्लाक एमआईएस, ब्लाक क्वालिटी कोआर्डिनेटर के संबंध में जो टेण्डर की प्रक्रिया की जा रही है, उसे इस माह में शत प्रतिशत पूर्ण करना सुनिश्चित करें।
जर्जर भवन के स्थान पर प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों का निर्माण कार्य पीसीसीडी, आरईडी एवं यूपी सिडको द्वारा कराया जा रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने उक्त कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिये कि प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों का निर्माण कार्य यथाशीघ्र प्रारम्भ कराते हुए 02 माह के अन्दर पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के साथ ही पढ़ाई की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें।
जिलाधिकारी ने माध्यमिक शिक्षा के अन्तर्गत संचालित विद्यालयों में भी कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत पात्र लाभार्थियों का पंजीकरण कराये जाने के लिए डीआईओएस को निर्देश दिये। उन्होने कहा कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में जो भी जीर्णोद्धार के कार्य कराये जा रहे हैं, उसे यथाशीघ्र पूर्ण करायें।
इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री अतुल कुमार सिंह, समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारी सहित डीआईओएस कार्यालय के कर्मचारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...