शरद पवार ने पीएम मोदी से मुलाकात की, उद्धव ठाकरे गुट का मानना ​​है कि भ्रम पैदा होगा

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण की प्रतिक्रिया, शरद पवार ने पीएम मोदी से मुलाकात की, उद्धव ठाकरे गुट का मानना ​​है कि भ्रम पैदा होगा

 

मुंबई आशीष सिंह

 

शरद पवार पर अशोक चव्हाण की प्रतिक्रिया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तिलक स्मारक समिति की ओर से दिए जाने वाले लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार की उपस्थिति में पुणे में आयोजित एक कार्यक्रम में केवल आमंत्रित लोगों की उपस्थिति में पीएम मोदी को यह पुरस्कार प्रदान किया गया. इस कार्यक्रम में शरद पवार के शामिल होने से उनकी राजनीतिक भूमिका पर संदेह जताया जा रहा है. कांग्रेस और शिवसेना के ठाकरे समूह के नेताओं के साथ-साथ कई राजनीतिक विश्लेषकों ने कहा है कि शरद पवार की कार्रवाई लोगों के बीच भ्रम पैदा कर रही है.

 

एनसीपी की सहयोगी कांग्रेस ने दी प्रतिक्रिया

इस पर कई सालों तक एनसीपी की सहयोगी रही कांग्रेस की ओर से बड़ी प्रतिक्रिया आई है. पूर्व मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण ने शरद पवार को सलाह दी है. अशोक चव्हाण ने कहा है कि शरद पवार को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और लोगों के बीच भ्रम दूर करना चाहिए.

 

अशोक चव्हाण ने दिया बड़ा बयान

अशोक चव्हाण ने कहा, मुझे नहीं लगता कि ऐसे कार्यक्रम में हिस्सा लेना गलत है. यह एक निजी संस्था द्वारा लिया गया कार्यक्रम था. लेकिन देश में एक तरफ जहां तमाम विरोधी बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के खिलाफ उतर रहे हैं. सभी विपक्षी दल भारत के झंडे तले एकजुट हो रहे हैं. ऐसे में ये घटनाएं (ऐसे आयोजनों में शरद पवार की मौजूदगी के कारण) निश्चित रूप से भ्रम का माहौल पैदा करती हैं.

 

कांग्रेस नेता ने की ये अपील

अशोक चव्हाण ने कहा, मुझे लगता है कि इस कार्यक्रम में शरद पवार की मौजूदगी ने लोगों के बीच चर्चा का विषय बना दिया है. इसलिए पवार जैसे अनुभवी नेताओं को लोगों के बीच भ्रम दूर करना चाहिए.’ बेहतर होगा कि शरद पवार अपना रुख स्पष्ट करें, जो वह पहले ही ले चुके हैं और लोगों के बीच भ्रम दूर करें

खबरें और भी हैं...