मुख्तार अंसारी जेल में बंद पूर्वांचल के बाहुबली मुख्तार अंसारी को सता रहा जान का डर, कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार

मुख्तार अंसारी जेल में बंद पूर्वांचल के बाहुबली मुख्तार अंसारी को सता रहा जान का डर, कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार

 

ब्यूरो चीफ पूर्णिमा तिवारी

 

पूर्वांचल के बाहुबली मुख्तार अंसारी (Mafia Mukhtar Ansari) को जान का डर सता रहा है. उसने हत्या की आशंका जताते हुए कोर्ट से जेल में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने की गुहार लगाई है.

बाराबंकी कोर्ट में बाहुबली मुख्तार अंसारी की बांदा जेल से फर्जी एंबुलेंस मामले में वर्चुअल पेशी हुई. कोर्ट को दी गई अर्जी में डॉन बृजेश सिंह, सुंदर भाटी, त्रिभुवन सिंह से खतरे की आशंका जताई गई है. प्रार्थना पत्र में यूपी एसटीएफ, जेल विभाग और पुलिस के आलाधिकारियों की अपराधियों से सांठगांठ का भी आरोप लगाया है.

 

बाहुबली मुख्तार अंसारी को सता रहा है डर

 

कोर्ट को बताया गया कि डॉन बृजेश सिंह और सुंदर भाटी गैंग का खास बंदीरक्षक अजीत गौतम को सोनभद्र से बांदा जेल हत्या के लिए भेजा गया है ताकि बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह के खिलाफ गवाही न दी जा सके. मुख्तार अंसारी के प्रार्थना पत्र पर एमपी-एमएलए कोर्ट ने सुनवाई के लिए 27 सितंबर की तारीख तय कर दी. बार काउंसिल के आह्वान पर हड़ताल की वजह से कोर्ट में गवाही नहीं हो सकी. मुकदमे में अन्य आरोपियों की भी पेशी नहीं हो सकी. गौरतलब है कि मुख्तार अंसारी की सरकार बनाम अलका राय के चर्चित फर्जी एंबुलेंस मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी हुई.

 

कोर्ट में अर्जी देकर लगाई सुरक्षा की गुहार

 

मुख्तार अंसारी ने कोर्ट को दी गई अर्जी में बताया कि यूपी पुलिस, एसटीएफ, जेल अधिकारियों की मिलीभगत से बृजेश सिंह, सुंदर भाटी और त्रिभुवन सिंह हत्या करवाना चाहते हैं. इसलिए अदालत से अपील की जाती है कि जेल में सुरक्षा की मजबूत व्यवस्था करने का आदेश पारित करे. प्रार्थना पत्र में बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह के साथ अदावत और मुकदमे का भी जिक्र किया गया है. अर्जी में कहा गया कि डॉन बृजेश सिंह का खास बंदीरक्षक अजीत गौतम मुख्तार अंसारी की हत्या कर सकता है.

खबरें और भी हैं...