मुख्तार अंसारी के शव को पोस्टमार्टम किये जाने के बाद गाजीपुर जिले के मोहम्‍दाबाद यूसुफपुर स्थित उसके पैतृक निवास ले जाया जाएगा।   

मुख्तार अंसारी के शव को शुक्रवार को बांदा मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों के एक समूह द्वारा पोस्टमार्टम किये जाने के बाद गाजीपुर जिले के मोहम्‍दाबाद यूसुफपुर स्थित उसके पैतृक निवास ले जाया जाएगा।

 

इस बीच गाजीपुर और मऊ समेत आसपास के जिलों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि अंसारी के शव को काली बाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा जो अंसारी परिवार के आवास से करीब आधा किलोमीटर दूर स्थित है। सूत्रों ने बताया कि इसी कब्रिस्तान में मुख्तार के मां-पिता की कब्र हैं। उन्होंने बताया कि मुख्तार का शव देर शाम तक यहां लाये जाने की संभावना है। अंसारी परिवार के आवास से कब्रिस्तान तक भारी पुलिस बल तैनात किया गया है और जगह-जगह बैरीकेडिंग की गई है।

 

माफिया से नेता बना अंसारी बांदा जेल में बंद था। उसकी बांदा के एक अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से बृहस्पतिवार को मौत हो गयी थी। मुख्तार अंसारी को बृहस्पतिवार को तबीयत बिगड़ने के बाद बांदा जिला जेल से रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले जाया गया था, जहां दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई थी।

 

बांदा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य सुनील कौशल ने बताया, ”मेडिकल कॉलेज में दिल का दौरा पड़ने से अंसारी की मौत हो गई।” इस बीच मोहम्मदाबाद यूसुफपुर में दुकानें और बाजार बंद हो गए हैं और लोग मुख्तार के शव का इंतजार कर रहे हैं। मुहम्मदाबाद गाजीपुर जिले का तहसील मुख्यालय है, जहां लोगों ने अपनी दुकानें बंद रखी हैं।

 

इस बीच लोग युसूफपुर मोहम्मदाबाद में मुख्तार अंसारी के आवास पर पहुंचने लगे हैं। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पूर्व जिलाध्यक्ष गुलाब राम ने ‘पीटीआई-वीडियो’ से कहा, ”लोग मर्माहत हैं। सहानुभूति में दुकानें बंद हैं। वह (मुख्तार अंसारी) सबके सुख-दुख में शामिल होते थे।” राम ने कहा लोग अंतिम दर्शन करने के लिए मुख्तार अंसारी के शव का इंतजार कर रहे हैं।

 

उन्होंने बताया कि शव को यहीं कब्रिस्तान में दफनाया जाएगा। वहीं स्थानीय दुकानदार अलगू कुशवाहा ने कहा, ”उनसे (मुख्तार अंसारी से) लोगों को सहानुभूति है। कुशवाहा ने कहा कि किसी ने दुकान बंद करने को नहीं कहा है, न किसी व्यापारी संगठन ने और न ही किसी दल ने लेकिन लोगों ने खुद से ही दुकानें बंद की हैं।

 

वार्ड नंबर 25 लोहटिया के सभासद संजीव कुमार गिहार ने पत्रकारों से कहा कि किसी के कहने से नहीं बल्कि सहानुभूति के चलते बाजार बंद है। हालांकि अंसारी से कुछ नाराज प्रतीत हो रहे संजीव ने कहा ”जैसी करनी-वैसी भरनी। 2004 में मेरा भाई मारा गया और मेरा अपहरण हुआ था।”

 

मोहम्‍मदाबाद से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक रहे कृष्णानंद राय के भतीजे आनन्‍द राय ने पत्रकारों से कहा, ”भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं।” उन्होंने कहा कि यह भगवान का न्याय है। वर्ष 2005 में विधायक कृष्णानंद की राय की हत्‍या में अंसारी और उसके परिजनों को आरोपी बनाया गया था।

 

उधर, मऊ में भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है और चौतरफा पुलिस बल तैनात किया गया है। एक अधिकारी ने बताया कि मऊ, गाजीपुर, बलिया समेत आसपास धारा 144 लगायी गयी है। इस बीच भदोही से मिली खबर के अनुसार मुख्तार अंसारी की बांदा में मौत के बाद उसके शव को गाज़ीपुर ले जाये जाने के मद्देनजर भदोही जिले में राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर पीएसी के साथ भारी पुलिस बल तैनात करके सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इसके साथ जिले के तीन थानों पर एक-एक प्लाटून अर्धसैनिक बल ‘सीमा सुरक्षा बल’ को रिजर्व में रखा गया है।

 

शुक्रवार को पुलिस क्षेत्राधिकारी (यातायात) भुवनेश्वर प्रसाद पांडेय ने बताया कि प्रयागराज जिले की सीमा से भदोही में राष्ट्रीय राजमार्ग पर किसी भी तरह का व्यवधान पैदा न हो इसके लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। बलिया से मिली खबर के अनुसार अंसारी की मौत के बाद गाजीपुर से सटे बलिया जिले में प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है।

 

जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया कि मुख्तार अंसारी की मौत की सूचना मिलने के बाद सभी प्रशासनिक अधिकारियों को पूरी तरह से सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। बलिया के अपर पुलिस अधीक्षक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने बताया कि जुमे की नमाज शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने को लेकर प्रशासन अलर्ट है। उन्होंने कहा कि पुलिस के अधिकारियों को क्षेत्र में भ्रमण करते रहने को कहा गया है।

खबरें और भी हैं...