मुंबई के अस्पताल में हैवान बना सफाई कर्मी, ICU में भर्ती किशोरी से किया गंदा काम

 

मुंबई के अस्पताल में हैवान बना सफाई कर्मी, ICU में भर्ती किशोरी से किया गंदा काम

मुंबई पूर्णिमा तिवारी

मुंबई के मशहूर जेजे अस्पताल में एक झकझोर देने वाली वारदात हुई है. यहां आईसीयू में भर्ती एक नाबालिग बच्ची के साथ गंदी हरकत को अंजाम दिया गया है. यह वारदात किसी बाहरी ने नहीं, बल्कि अस्पताल के ही एक कर्मचारी ने अंजाम दिया है.
इस संबंध में पुलिस ने पीड़ित बच्ची की मां की शिकायत पर केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है. यह वारदात मंगलवार दोपहर बाद की बताई जा रही है.

पुलिस को दिए शिकायत में पीड़ित बच्ची की मां ने बताया कि वह सुबह से लगातार अपनी बेटी के पास बैठी थी, लेकिन दोपहर के वक्त कुछ काम से वह पांच मिनट के लिए आईसीयू से बाहर निकली. इसी बीच आरोपी कर्मचारी ने उनकी बेटी को अकेला देखकर उसके साथ गंदी हरकत की. जैसे ही वह लौट कर आईं, आरोपी वहां से फरार हो गया. उसे भागते देखकर उन्हें शक हुआ था, लेकिन अंदर जाने पर उनकी बेटी ने रोते हुए पूरा घटनाक्रम बयां किया.

इसके बाद उसने पुलिस में शिकायत देते हुए आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है. पीड़ित मां ने अपनी शिकायत में बताया कि उनकी बेटी महज 15 साल की है. वह खुद अपने परिवार के साथ मानखुर्द में रहते थे. लेकिन कुछ दिन पहले बच्ची के पिता ने परिवार के साथ दूसरे स्थान पर शिफ्ट कर लिया. इधर, उनकी बेटी अपने मूल स्थान पर ही वापस जाना चाहती थी. इसी विवाद में उनकी बेटी ने आत्महत्या करने के इरादे से अपनी पिता की दवाई खा लिया. इससे उसकी हालत गंभीर हो गई तो यहां अस्पताल में लाया गया था.
जहां उनकी बेटी के साथ इस वारदात को अंजाम दिया गया है. पीड़िता ने बताया कि आरोपी स्वीपर है और इसी अस्पताल में साफ सफाई का काम करता है. वारदात के वक्त भी आरोपी साफ सफाई के लिए आईसीयू में आया था. उस समय उसने आईसीयू के अंदर उनकी बेटी को अकेले और बेवश हालत में देखकर गंदी हरकत को अंजाम दिया है. पुलिस ने बताया कि पीड़ित मां की तहरीर के आधार पर पॉक्सो एक्ट की धाराओं में केस दर्ज कर आरोपी को अरेस्ट कर लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

खबरें और भी हैं...