महिलाओं से दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग के आरोप में द्वारका का ‘बाबा’ गिरफ्तार, यूट्यूब पर भी चलाता था दरबार

महिलाओं से दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग के आरोप में द्वारका का ‘बाबा’ गिरफ्तार, यूट्यूब पर भी चलाता था दरबार

दिल्ली मोहित शर्मा

राजधानी दिल्ली के द्वारका गांव में अपने आश्रम में अपने कई भक्तों का यौन उत्पीड़न करने और उन्हें चुप रहने के लिए ब्लैकमेल करने के आरोपी स्वयंभू बाबा विनोद कश्यप को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

द्वारका के डीसीपी हर्ष एम वर्धन ने कश्यप की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। पुलिस के मुताबिक दो महिलाओं द्वारा विनोद कश्यप के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

दिल्ली और लोनी से तीन-चार भक्तों ने भी दिल्ली पुलिस को फोन कर कश्यप के खिलाफ लगाए कई आरोप

पुलिस सूत्रों ने कहा कि मुख्य रूप से दिल्ली और लोनी से तीन-चार भक्तों ने भी दिल्ली पुलिस को फोन किया और 39 वर्षीय कश्यप के खिलाफ इसी तरह के आरोप लगाए। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कश्यप का ‘दरबार’ एक अस्थायी व्यवस्था से संचालित होता है। इसमें कश्यप मुख्य रूप से गांव में धार्मिक जुलूसों और कार्यक्रमों का नेतृत्व करने के लिए शामिल होते हैं। वह अक्सर भाषण भी देते हैं और बांझपन से लेकर पारिवारिक और वैवाहिक विवादों तक के मुद्दों को ‘ठीक’ करने का दावा करते हैं।

दो महिलाओं ने की लिखित शिकायत, लगाए झूठे दावे करने, दुष्कर्म, धमकी और जबरन वसूली के आरोप

पुलिस सूत्रों के अनुसार, दो महिलाएं सोमवार को कश्यप के खिलाफ लिखित शिकायत लेकर द्वारका जिला पुलिस के पास पहुंचीं। उन्होंने कश्यप पर उनकी सभी समस्याओं को हल करने के वादे के साथ उन्हें फुसलाने और बाद में उनके साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया। उन्होंने महिलाओं को धमकी भी दी। शिकायतकर्ताओं ने यह भी आरोप लगाया कि कश्यप ने उनसे जबरन वसूली की।

महिलाओं की शिकायत के आधार पर द्वारका पुलिस ने दर्ज किया बलात्कार और आपराधिक धमकी का मामला

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘महिलाओं ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्हें अपने आभूषण बेचने पड़े और कश्यप को पैसे देने पड़े। क्योंकि उसने महिलाओं को बताया कि उसके पास उनके जीवन को नष्ट करने की शक्ति है और वह उनके जीवनसाथियों और परिवारों को उनके यौन संबंधों के बारे में बताएगा।’ पुलिस ने कहा कि महिलाओं की शिकायत के आधार पर कश्यप के खिलाफ बलात्कार और आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया।

डर के मारे घर से भागा स्वयंभू बाबा विनोद कश्यप, मशक्कतों के बाद पुलिस ने मंगलवार को किया गिरफ्तार

मामला दर्ज किए जाने के बाद पुलिस ने कश्यप को पकड़ने के लिए SHO संजीव पाहवा के निर्देश पर एसआई रश्मी धारीवाल और एसआई दुर्गेश के नेतृत्व में एक टीम भेजी। पुलिस ने कहा कि आरोपी को शिकायतों का पता चल गया और वह उसी दिन अपने घर से भाग गया। इसके बाद गांव के आसपास कई छापे मारे गए। पुलिस की काफी मशक्कतों के बाद मंगलवार तड़के कश्यप की गिरफ्तारी हो पाई।

अदालत ने तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा, पूछताछ में यूट्यूब चैनल के हजारों सब्सक्राइबर होने का दावा

पुलिस ने कहा कि कश्यप को अदालत में पेश किया गया और तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। उसके सहयोगियों की गिरफ्तारी के लिए और छापेमारी की जा रही है। पुलिस की पूछताछ के दौरान कश्यप ने कहा कि उसका एक YouTube चैनल है जिसमें 900 से अधिक वीडियो और 34.5K सब्सक्राइबर हैं। उसके ज्यादातर वीडियो में, कश्यप द्वारका में विभिन्न कार्यक्रमों में भजन गाते हुए दिखाई देता है।

यूट्यूब चैनल पर अवसादग्रस्त लोगों को देता है दरबार में आने का न्योता, खुद के बारे में करता है बड़ी-बड़ी बातें

स्वयंभू बाबा विनोद कश्यप का यूट्यूब चैनल घोषणा करता है, ‘मैं न तो कोई धार्मिक गुरु हूं और न ही उपदेशक हूं। मैं केवल एक शिष्य और भक्त हूं… जो अवसादग्रस्त लोगों की (भोजन, धन, कपड़े आदि की व्यवस्था करके) मदद करना चाहता है…अगर आप अपनी समस्याओं का समाधान पाना चाहते हैं या हमसे कुछ पूछना चाहते हैं, तो आपको अवश्य दरबार में आना चाहिए …’

 

खबरें और भी हैं...