महाराष्ट्र राजनीति ‘बालासाहेब ठाकरे की गरिमा को खत्म किया…’, उद्धव ठाकरे पर बरसे शिंदे के मंत्री दीपक

महाराष्ट्र राजनीति ‘बालासाहेब ठाकरे की गरिमा को खत्म किया…’, उद्धव ठाकरे पर बरसे शिंदे के मंत्री दीपक

मुंबई आशीष सिंह

दीपक केसरकर उद्धव पर: कैबिनेट मंत्री दीपक वसंत केसरकर ने उद्धव ठाकरे और एनसीपी के प्रमुख शरद पवार की मुलाकात को लेकर हमला बोला है. केसरकर ने उद्धव ठाकरे पर बालासाहेब ठाकरे की गरिमा को खत्म करने का आरोप लगाया है.
उन्होंने कहा कि बालासाहेब ठाकरे कभी मातोश्री से बाहर नहीं गए और ये लोगों से मिलने के लिए खुद बाहर जा रहे हैं. दीपक केसरकर ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने कहा कि बाबरी ढांचा गिराए जाने के दौरान बीजेपी के लोग चूहे की तरह बिल में घुस गए थे. अगर उद्धव के बारे में ही ऐसा कहा जाए तो कैसा लगेगा?

केसरकर ने पूछा कि सत्ता जाने के बाद उद्धव ठाकरे का मास्क कैसे उतर गया? कैसे घर से बाहर निकल गए? उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे ने बाला साहेब ठाकरे का विचार और स्वाभिमान खत्म कर दिया. केसरकर ने आगे कहा कि बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटिल के बयान पर बीजेपी ने साफ कर दिया कि यह उनकी निजी राय थी और चंद्रकांत पाटिल ने भी साफ किया कि उनका बालासाहेब के अपमान नहीं किया और अमित शाह से भी चंद्रकांत पाटिल को संदेश मिल गया है.

उद्धव पर पीएम मोदी का अपमान करने का आरोप
केसरकर ने उद्धव ठाकरे को निशाने पर लेते हुए आगे कहा कि आप जब तक बालासाहेब ठाकरे के विचार पर चले तब तक हमने आपको सम्मान दिया, लेकिन जब आपने उनके विचार छोड़े तो हमने अपना अलग रास्ता अपनाया. केसरकर यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने उद्धव ठाकरे को कितना प्यार और सम्मान दिया. जिसने बाला साहेब का सपना पूरा किया और कश्मीर से 370 हटाया. राम मंदिर भी बन रहा है, लेकिन वे ऐसे पीएम का अपमान करते हैं. शिवसेना में आई दरार को लेकर भी दीपक केसरकर उद्धव पर हमलावर नजर आए. उन्होंने कहा कि ढाई साल तक उद्धव ठाकरे शिवसैनिकों से मिलते नहीं थे, इसलिए लोग एकनाथ शिंदे के साथ गए.

आदित्य ठाकरे पर बोला हमला
केसरकर ने मुंबई में फैले प्रदूषण को लेकर आदित्य ठाकरे को भी आड़े हाथ ले लिया. उन्होंने कहा कि मुंबई के प्रदूषित होने की जिम्मेदारी उद्धव और आदित्य ठाकरे की है. पिछले ढाई साल में आदित्य ने क्या किया? सिर्फ इंटरनेशनल एजेंसियों के साथ सिर्फ मीटिंग की. पूरी जिम्मेदारी इनकी थी, लेकिन इन्होंने ठीक से काम नहीं किया.

ED की चार्जशीट पर सवाल
महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले मामले को लेकर दीपक केसरकर ने कहा कि मामले में ED ने चार्जशीट दाखिल की, लेकिन अजीत पवार का नाम चार्जशीट में नहीं है. ED एजेंसी है और जांच करती है, जांच में नाम आने पर कार्यवाही करती है. मैं ED का प्रवक्ता नहीं. ED के प्रवक्ता ही बता पाएंगे कि चार्जशीट में नाम क्यों नहीं है.

खबरें और भी हैं...