बीएमसी पोल से पहले मुंबई में गुड़ी पड़वा के जरिए मराठियों के बीच अधिक से अधिक पहुंच बना रही बीजेपी

बीएमसी पोल से पहले मुंबई में गुड़ी पड़वा के जरिए मराठियों के बीच अधिक से अधिक पहुंच बना रही बीजेपी

मुंबई पूर्णिमा तिवारी
इस साल मुंबई भाजपा ने गुड़ी पड़वा को और अधिक उत्साह के साथ मनाने की पहल की है। पार्टी ने फैसला किया है कि लगभग एक लाख कार्यकर्ता त्योहार सेलिब्रेट करने के लिए शहर भर में अपने घरों पर गुड़ियां फहराएंगे।
महाराष्ट्र के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में धूमधाम के साथ महाराष्ट्रीयन नव वर्ष गुड़ी पड़वा का त्योहार मनाया जाता है। अलग-अलग वर्ग और सामुदायिक रेखाओं से ऊपर उठकर लोग नए साल का स्वागत पारंपरिक तरीके से निजी, पारीवारिक या सार्वजनिक समारोहों के जरिए करते हैं। मुंबई के गिरगाँव में बुधवार (22 मार्च, 2023) को बड़ी संख्या में लोग मराठी नववर्ष ‘गुड़ी पड़वा’ मनाने के लिए इकट्ठा हुए।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने निकाली शोभायात्राएं और जुलूस

इस साल मुंबई भाजपा ने गुड़ी पड़वा को और अधिक उत्साह के साथ मनाने की पहल की है। मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार ने कहा, ‘हमने गुड़ी पड़वा मनाने का फैसला किया है। यह हिंदू कैलेंडर के अनुसार साढ़े तीन शुभ मुहूर्तों में से एक है। नए साल का स्वागत करने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपने घरों पर गुड़ियां फहराई हैं। इसके अलावा बूथ प्रमुखों और कार्यकर्ताओं ने मुंबई के विभिन्न हिस्सों में शोभा यात्राएं या जुलूस भी निकाले। लालबाग, परेल, वर्ली, विले पार्ले, बोरीवली, डोंबिवली, कल्याण और दहिसर में राज्य की संस्कृति को प्रदर्शित करने वाले जुलूस निकाले गए।

मराठी मतदाताओं के बीच पैठ बनाने की रणनीति का हिस्सा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने ठाणे में गुड़ी फहराई और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नागपुर में अपने घर में त्योहार का जश्न मनाया।गुड़ी पड़वा के माध्यम से लोगों तक पहुंचने का पार्टी का निर्णय शहर में मराठी मतदाताओं के बीच अपनी पैठ बनाने की रणनीति का हिस्सा है। मुंबई में भाजपा की सबसे बड़ी चुनौती आगामी बृहन्मुंबई नगर निगम चुनाव (BMC Polls) है। यहां मराठियों की आबादी 30 प्रतिशत तक है, उत्तर भारतीय मतदाता 20 प्रतिशत हैं और गुजराती 17 प्रतिशत हैं। शेष 33 प्रतिशत में दूसरे कई समुदाय शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...