बागेश्वर धाम के नजदीक अज्ञात शव मिलने से मची सनसनी

मुंह में कपड़ा और प्राईवेट पार्ट में लकड़ी…बागेश्वर धाम के नजदीक अज्ञात शव मिलने से मची सनसनी

 

ब्यूरो चीफ पूर्णिमा तिवारी

 

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित बागेश्वर धाम के नजदीक अज्ञात शव मिलने से सनसनी फैल गई. शव 2-3 दिन पुराना बताया जा रहा है. सूचना पर बमीठा थाना पुलिस गढा गांव पुलिस पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया.

 

एडिशनल एसपी विक्रम सिंह ने बताया, शव नग्न अवस्था में था और उसके मुंह में कपड़ा ठुंसा हुआ था. यही नहीं, प्राईवेट पार्ट में लकड़ी घुसी थी. शव देखकर ऐसा लग रहा है कि उसके साथ किसी ने अप्राकृतिक कृत्य किया हो और फिर उसकी हत्या कर दी हो.

 

मृतक के कपड़े पुलिस ने पास से एक खेत से बरामद किए हैं. पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है और पुलिस इस मामले की जांच मे लग गई है.

 

उधर, बागेश्वर धाम से लोगों के लापता होने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार लोगों की भीड़ बढ़ने की वजह से बागेश्वर धाम जाने वाले कुछ भक्त अपने परिवार के सदस्यों से बिछड़ जाते हैं. गुमशुदा लोगों का काफी समय तक अता-पता नहीं लगता. वहीं, कुछ लोग बाद में मिल भी जाते हैं. अब ऐसा ही एक और ताजा मामला सामने आया है.

 

बागेश्वर धाम से 12 साल की बच्ची हुई लापता

 

बीती 27 अगस्त को बिहार के नालंदा निवासी पुरोहित संतोष पांडेय अपनी पत्नी और बेटी के साथ छतरपुर जिले के बागेश्वर धाम पहुंचे हुए थे और अर्जी लगाने के लिए 29 अगस्त को दरबार हॉल के पास खड़े हुए थे. इसी दौरान भीड़ में उनकी बेटी उनसे अलग हो गई. तब से बच्ची लापता है. बच्ची के माता-पिता का कहना है कि उन्होंने बमीठा पुलिस थाने में शिकायत की. लेकिन उनकी शिकायत पर कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई.

 

बेटी की झाड़-फूंक कराने लाए थे बागेश्वर धाम

 

नालंदा बिहार में पंडिताई करने वाले पुरोहित संतोष पांडे का कहना है, ”मैं नालंदा जिले के सिलाव थाना क्षेत्र के तहत दरियासराय गांव का रहने वाला हूं. मेरी 12 वर्षीय बेटी प्रियंका कुमारी बहुत तनाव में रहती है. इस कारण से मैं अपनी बेटी को झाड़-फूंक के लिए छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा स्थित बागेश्वर धाम लेकर आया था. साथ में अपनी पत्नी शोभादेवी को साथ लेकर 27 अगस्त को गढ़ा पहुंचा था. दरबार में अर्जी लगाने के लिए धाम पर ही रुका था.”

 

– बागेश्वर धाम से गायब हो रहे लोग, 4 महीने के भीतर हुए 21 लापता

 

संतोष पांडे ने बताया कि 29 अगस्त को दरबार लगा हुआ था, वहां पर वह अपनी पत्नी और बेटी के साथ हॉल के बाहर भीड़ में मौजूद थे और ड़ में अचानक बेटी लापता हो गई. जिसके बाद आसपास खूब तलाश की, मगर बेटी का कहीं पता नहीं लगा.

 

कहां है बागेश्वर धाम?

 

बागेश्वर धाम मंदिर मध्य प्रदेश राज्य के छतरपुर जिले में मौजूद है. जिले के गंज नामक कस्बे से करीब 35 किमी दूर गढ़ा गांव पड़ता है और उसी गांव में हनुमान जी महाराज का एक मंदिर है. यही मंदिर प्रांगण बागेश्वर धाम और हनुमान जी बागेश्वर धाम सरकार के नाम से प्रसिद्ध हैं.

 

बागेश्वर धाम सरकार के मुख्य पुजारी धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री हैं, जो बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर के नाम से विख्यात हैं. शास्त्री देशभर में धार्मिक कथाओं का वाचन करते हैं. साथ ही यह कथावाचक लगातार अपने चर्चित बयानों और कथाओं के दौरान लगने वाले दिव्य दरबार को लेकर सुर्खियों में बने रहते हैं.

खबरें और भी हैं...