फर्जी तरिके से पत्रकारो के उपर लगाए गये मुकदमे को नहीं किया वापस तो 22 मार्च को पत्रकारों का होगा धरना प्रदर्शन*

  1. *फर्जी तरिके से पत्रकारो के उपर लगाए गये मुकदमे को नहीं किया वापस तो 22 मार्च को पत्रकारों का होगा धरना प्रदर्शन*

आजमगढ़ / पुलिस प्रशासन द्वारा पत्रकारों के ऊपर फर्जी तरीके से मुकदमा लिखे जाने के बाद पत्रकारों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है लगातार पत्रकारों का संगठन फर्जी तरीके से लिखे गए मुकदमे को वापस लेने की मांग कर रहा वही आए दिन पत्रकारों का संगठन उच्च अधिकारियों से मिलकर अपनी बात रखने का काम कर रहे हैं लेकिन उच्च अधिकारियों द्वारा पत्रकारों के ऊपर हुए फर्जी तरीके से मुकदमे को लेकर किसी तरह से कोई कार्रवाई अब तक देखने को नहीं मिली जहां पत्रकारों में रोष और बढ़ता दिखाई दे रहा है इसी क्रम में आज रा.पत्रकार संघ भारत के जिलाध्यक्ष कमल सिंह यादव के नेतृत्व मे आज पत्रकार संघ का एक प्रतिनिधिमंडल एल आई यू व पुलिस अधीक्षक के कार्यलय मे ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया है कि अगर पुलिस प्रशासन द्वारा पत्रकारो के उपर खबर चलाने को लेकर फर्जी मुकदमे वापस नही करते है तो रा.पत्रकार संघ भारत के समस्त पत्रकार काली पट्टी बांधकर कर शान्तिपूर्ण ठंग से धरना देगे ऊन्होने कहा कि रा.पत्रकार संघ मांग करता है कि पत्रकार एक देश का चौथा स्तम्भ होता वह अपने कलम का प्रयोग करता तो पुलिस प्रशासन उसको दबाने का प्रयास कर रही है पत्रकार जब दबता नही तो उसके ऊपर किसी ना किसी को पार्टी बना कर फर्जी मुकदमा पंजीकृत किया जाता जिसका रा.पत्रकार संघ भारत घोर निंदा करता है जिलाध्यक्ष ने कहा कि रा. पत्रकार संघ भारत का एक प्रतिनिधिमंडल मा. मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी से मुलाकात कर पत्रकारो के उपर पुलिस प्रशासन द्वारा जो फर्जी मुकदमा दर्ज कर डराने व धमकाने का कार्य कर रही है यह सब जानकारी मा.मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष रखेगे ऊन्होने कहा कि रा.पत्रकार संघ भारत के सभी सदस्य और पदाधिकारी तथा सभी पत्रकार बन्धु प्रदेश के सभी जिले मे जिलधिकारी के माध्यम से मा.मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी को ज्ञापन देगे एवं प्रेस आफ काउंसिलिंग मे आपनी बात को रखेगे।

खबरें और भी हैं...