पुलिस की नकली वर्दी पहनकर लड़कियों से दोस्ती

 

 

 

पुलिस की नकली वर्दी पहनकर लड़कियों से दोस्ती, फिर इलाज के नाम पर लिए लाखों, फर्जी दरोगा गैंग गिरफ्तार

 

प्रधान संपादक आशीष सिंह

 

आजमगढ़ जिले में फर्जी पुलिसकर्मी बनकर सोशल मीडिया पर ठगी करने वाले गैंग का खुलासा हुआ है. पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपी पुलिस की नकली वर्दी में सोशल मीडिया पर फोटो डालकर लड़कियों से दोस्ती करते और शादी की झांसा देते थे.

उसके बाद मां के ऑपरेशन के नाम पर लाखों रुपए ऐंठ लेते थे. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

 

आजमगढ़ के पड़ोसी बलिया जनपद के रहने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इस अंतर्जनपदीय गैंग के सदस्यों के नाम धीरज सिंह, पंकज सिंह, राजेश सिंह और प्रवीण प्रताप सिंह हैं. ये सभी फर्जी पुलिसकर्मी बनकर लोगों से ठगी कर रहे थे. पुलिस ने इनके पास से पुलिस की डबल स्टार वाली वर्दी, दो तमंचे, नेम प्लेट और कार बरामद की है. एसपी सिटी शैलेन्द्र लाल ने बताया कि ये सभी आरोपी पिछले तीन साल से नकली पुलिसकर्मी बनकर लोगों से लाखों रुपयों की ठगी कर चुके हैं.

 

ऐसे देते थे ठगी को अंजाम

 

ये सभी आरोपी पुलिस की वर्दी पहनकर कई दफ्तरों में जाते थे और शादी समारोह में शामिल होते थे. साथ ही पुलिसकर्मियों और नेताओं से दोस्ती कर उनके साथ फोटो खिंचाते और सोशल मीडिया साइट फेसबुक, इंस्टाग्राम पर अपलोड करते थे. फिर शादी का प्रपोजल आने पर लड़कियों से दोस्ती कर लेते थे. उसके बाद मां की बीमारी का बहाना बनाकर ऑपरेशन के नाम पर रुपए ठग लेते थे. रुपए ठग लेने के बाद बातचीत करना बंद कर देते थे. अब ये गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ गई है.

पूछताछ की जा रही

 

सिटी एसपी शैलेंद्र लाल ने बताया कि पुलिस ने नकली पुलिसकर्मी बनकर ठगी करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है. ये सभी लोग बलिया, मिर्जापुर, लखनऊ और इलाहाबाद में कई लोगों के साथ ठगी कर चुके हैं. इनके खिलाफ आजमगढ़ और फूलपुर कोतवाली में भी मुकदमा दर्ज है. पुलिस ने आरोपियों खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है. फिलहाल उनसे पूछताछ की जा रही है. पूछताछ में अन्य वारदातों का खुलासा हो सकता है.

खबरें और भी हैं...