द्वारका पुलिस ने अभियान चलाकर कार्रवाई के तहत 14 विदेशी नागरिकों को किया डिपोर्ट

द्वारका पुलिस ने अभियान चलाकर कार्रवाई के तहत 14 विदेशी नागरिकों को किया डिपोर्ट

प्रधान संपादक आशीष सिंह

द्वारका जिले की एंटी नारकोटिक्स सेल और मोहन गार्डन थाने की टीम ने अभियान चलाकर कार्रवाई के तहत 14 विदेशी नागरिकों को डिपोर्ट किया है.
नई दिल्ली: द्वारका जिला पुलिस ने वीजा अवधि समाप्त होने के बावजूद अवैध रूप से भारत में रह रहे 14 विदेशी नागरिकों को अभियान चलाकर 31 दिनों के अंदर डिपोर्ट किया गया है.इनके पास दिल्ली में रहने का कोई वैलिड डॉक्यूमेंट नहीं था. जो डॉक्यूमेंट उनके पास मिला भी उसकी अवधि खत्म हो चुकी थी.

कई अलग-अलग देशों से विदेशी नागरिक मेडिकल वीजा, टूरिस्ट विजा या एजुकेशन वीजा पर भारत आते हैं. दिल्ली में रहकर वीजा समाप्त होने के बावजूद वापस जाने की बजाए चोरी-छुपे रहकर गलत संगत में पड़कर दूसरे धंधे में लिप्त हो जाते हैं. पुलिस ऐसे ही विदेशी नागरिकों के खिलाफ लगातार अभियान चलाती है. पुलिस इनकी पहचान करके इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही करके उनके देश वापस भेजने के लिए लामपुर बॉर्डर स्थित डिटेंशन सेंटर भेज देती है.

मोहन गार्डन पुलिस ने 2 अफ्रीकी नागरिकों को भेजा डिपोर्ट सेंटर
डीसीपी द्वारका एम हर्षवर्धन ने बताया कि इस अभियान के लिए द्वारका जिले की एंटी नारकोटिक्स सेल और मोहन गार्डन थाने की टीम को लगाया गया था. एसीपी ऑपरेशन रामावतार की देखरेख में इंस्पेक्टर सुभाष चंद और मोहन गार्डन थाने की पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई में घाना और नाइजीरिया मूल के 14 विदेशी नागरिकों की पहचान की गई. उनके डॉक्यूमेंट्स की जांच की गई जिनके गलत पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करके इन्हें डिपोर्ट किया गया.

डीसीपी ने बताया कि इनके खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है. जिससे कि ऐसे विदेशी नागरिक यहां रहकर ड्रग तस्करी और दूसरे गलत कामों में न शामिल हों. क्योंकि ड्रग तस्करी के जितने मामले पुलिस के द्वारा पकड़े जाते हैं अधिकांश में ऐसे विदेशी नागरिकों की संलिप्तता पाई जाती है. स्पेशल ड्राइव चलाकर यह कार्रवाई की जा रही है.

खबरें और भी हैं...