जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा सड़क सुरक्षा माह का दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया शुभारम्भ

जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा सड़क सुरक्षा माह का दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया शुभारम्भ

रिपोर्ट- डा.बिरेन्द्र सरोज आजमगढ

आजमगढ़ 05 जनवरी– जिलाधिकारी श्री विशाल भारद्वाज एवं पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग आर्य द्वारा पुलिस लाइन आजमगढ़ परिसर में सड़क सुरक्षा माह का दीप प्रज्ज्वलित कर समारोहपूर्वक शुभारम्भ किया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि सड़क सुरक्षा माह कार्यक्रम 05 जनवरी से शुरू होकर 04 फरवरी तक चलाया जायेगा। इस दौरान लोगों को रोड सेफ्टी के विषय में जागरूक किया जायेगा, जिससे लोग जागरूक हो सकें और सड़कों पर चलते समय नियमों का पालन कर अपनी व अन्य लोगों के जान माल की सुरक्षा कर सकें। जिलाधिकारी ने कहा कि सड़क सुरक्षा माह के अंतर्गत प्रयास है कि जन सहभागिता के माध्यम से सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाई जाए एवं लोगों को सड़क सुरक्षा के नियमों से अवगत कराया जाए। उन्होंने कहा कि इसमें सभी संबंधित विभाग शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस, परिवहन आदि विभागों के द्वारा आपस में समन्वय बनाकर इस अभियान को सफल बनाया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि सड़क सुरक्षा के नियम के अंतर्गत सीट बेल्ट लगाना, हेलमेट पहनना और ओवरस्पीडिंग न करना, इसका सभी लोग पालन करें, यही लोगों से अपील की जा रही है।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उ0प्र0 शासन के निर्देश के क्रम में सड़क सुरक्षा कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है, जिसके अंतर्गत स्कूलों में, गांव में सबको यातायात नियमों के बारे में जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के नियमों की जागरूकता के बाद भी यदि लोग सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन नहीं करते हैं तो आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह सारी व्यवस्थाएं इसलिए हैं कि सड़क दुर्घटनाओं को कम किया जा सके, यह कार्यक्रम अंतर्विभागीय समन्वय स्थापित कर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शीतलहर में दुर्घटनाओं से बचाव हेतु ट्रैक्टर-ट्राली एवं अन्य वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाया जा रहा है एवं होटल/ढाबे के किनारे जो गाड़ियां खड़ी होती है, उसके विरूद्ध आज से एक अभियान शुरू किया गया है, उसमें ढाबे/होटल वालों की जिम्मेदारी तय की जाएगी कि उनके ढाबे/होटल के सामने सड़क पर कोई ट्रक या अन्य कोई बड़ा वाहन रोड के किनारे न खड़ा हो, इससे भी सड़क दुर्घटना में कमी लाई जाएगी।
इसी के साथ ही सड़क सुरक्षा कार्यक्रम के अन्तर्गत जागरूकता रैली को जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। सड़क सुरक्षा कार्यक्रम रैली में एनएसएस कैडेट, एनसीसी कैडेट समेत अन्य छात्र-छात्राएं मौजूद रहे। इस दौरान लोगों को बताया गया कि वाहनों को चलाते समय जो भी गाइड लाइन है, उसका पालन करें। दो पहिया वाहन चालकों को हेलमेट पहनना जरूरी है। चार पहिया वाहन चालकों को सीट बेल्ट लगाना जरूरी है। बाइक पर तीन सवारी बैठाकर कत्तई न चले। वाहन अपने निर्धारित बाएं तरफ से ही चले। ओवर स्पीड न चले। नशे की हालत में वाहन न चलाएं। वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करें। मानक के अनुरूप वाहन पर नंबर प्लेट लगाएं, आदि के बारे में जागरूक किया गया।
इसी के साथ ही सभी लोगों को सड़क सुरक्षा शपथ भी दिलायी गयी।
इस दौरान सीएमओ डॉ0 आइएन तिवारी, आरटीओ श्री आरएन चौधरी सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...