चट्टान से सेल्फी लेने के चक्कर में महाराष्ट्र के स्कूल टीचर की मौत

चट्टान से सेल्फी लेने के चक्कर में महाराष्ट्र के स्कूल टीचर की मौत
पुणे ग्रामीण पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र के पुणे जिले के वरंधा घाट में सेल्फी लेने के दौरान चट्टान से गिरकर 35 वर्षीय एक स्कूल शिक्षक की मंगलवार शाम मौत हो गई।
रात भर चले तलाशी अभियान के बाद ट्रेकर्स की एक टीम ने बुधवार तड़के उसका शव बरामद किया।
पुलिस ने मृतक की पहचान पुणे जिले के भोर तालुका के नसरपुर शहर के निवासी अब्दुल शेख के रूप में की है। वह रत्नागिरी जिले के मंडनगढ़ तालुका के एक स्कूल में शिक्षक थे।
पुलिस के मुताबिक मंगलवार की शाम शेख छुट्टी के बाद काम पर वापस जाने के लिए अपने चारपहिया वाहन से नसरपुर से मंडनगढ़ जा रहा था. वह भोर में वरंधा घाट पर वाघजई मंदिर
के पास रुके, जहां पर्यटकों और यात्रियों के लिए खाद्य सामग्री बेचने वाले कई स्टॉल हैं।
भोर थाने के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर विठ्ठल दाबाडे ने कहा कि फूड स्टॉल मालिकों के बयान के अनुसार, शेख चट्टान के किनारे खड़े होकर सेल्फी ले रहा था, जहां बहुत सारे बंदर थे।
शाम करीब छह बजे वह अपना संतुलन खो बैठा और चट्टान से 500 फुट नीचे गिर गया। इसके बाद रहवासियों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस की टीमों और भोर और महाड से
आपातकालीन प्रतिक्रिया विभाग के साथ ट्रेकर्स के समूहों द्वारा एक तलाशी अभियान शुरू किया गया था। बुधवार तड़के 3 बजे उसका शव चट्टान से करीब 500 फीट दूर मिला।'
अधिकारियों ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के बाद शेख का शव उसके परिवार को सौंप दिया गया।
साइनबोर्ड और अन्य माध्यमों से बार-बार चेतावनी देने के बावजूद, पर्यटक चट्टान के किनारे खतरनाक तरीके से खड़े होकर सेल्फी और तस्वीरें लेते रहते हैं। हम यात्रियों और
पर्यटकों से आग्रह करते हैं कि वे इन स्थानों पर जाते समय अत्यधिक सावधानी बरतें।'

खबरें और भी हैं...