अजित पवार और ठाकरे सेना आमने-सामने, संजय राउत ने क्यों कहा- मैं किसी के बाप से नहीं डरता

अजित पवार और ठाकरे सेना आमने-सामने, संजय राउत ने क्यों कहा- मैं किसी के बाप से नहीं डरता
मुंबई पूर्णिमा तिवारी
शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट के नेता संजय राउत ने अपने एक बयान से ये साफ कर दिया कि ठाकरे सेना अजित पवार को लेकर काफी सख्त लहजे में पेश आ रही है। इंडिया टीवी से बातचीत के दौरान संजय राउत ने अजित पवार पर बड़ा हमला बोला है।
संजय राउत ने कहा कि अगर मैंने सच कहा है इसीलिए मुझे कोई टारगेट करता है तो मैं मानता हूं कि मैं सच बोलता रहूंगा। अगर कोई मुझे टारगेट करता है तो भी मैं पीछे हटने वाला नहीं हूं। राउत ने कहा कि मैं किसी के बाप से डरता नहीं हूं।

“अजित का दावा झूठा, सामना में लिखी हर बात सच”
संजय राउत ने आगे कहा कि सामना (शिवसेना का मुखपत्र) हमेशा सच लिखता है और बोलता है। जाकर पूछो हसन मुश्रीफ से कि उन पर दबाव है या नहीं। अनिल देशमुख, जितेंद्र आव्हाड, प्रफुल पटेल से पूछों उनपर दबाव है या नहीं मैं और कितने नाम आपको बताऊं। केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर विपक्ष के नेताओं को तोड़ने की कोशिश की जा रही है। उस पर अगर हम कुछ कहते हैं तो बीजेपी को गुस्सा होना चाहिए ना की किसी अन्य नेता (अजित पवार) को।

“अजित मेरी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े नहीं कर सकते”
इंडिया टीवी से बातचीत के दौरान संजय राउत ने कहा कि (अजित पवार) वो क्या मेरी विश्वनियता पर सवाल खड़े कर सकते हैं। शरद पवार जरूर कर सकते हैं, मैं उनकी (शरद पवार) ही बात मानूंगा। राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में विपक्ष को तोड़ने की कोशिश हो रही है। यह बात सच है या नहीं यह अजित पवार बताएं। क्या शिवसेना को नहीं तोड़ा गया। क्या एनसीपी पर हमले नहीं हो रहे हैं। यह बात शरद पवार खुद बोल रहे हैं। इस तरह का पत्र उन्होंने अमित शाह और मोदी जी को लिखा है। अगर मैं यह सच सामने रखता हूं तो दिक्कत क्या है।

“मेरे सच से किसी को चुभन होती है तो मैं क्या करुं”
संजय राउत ने कहा, “मैं बोलता रहूंगा, लिखता रहूंगा। मैंने सच लिखा है और अगर इस सच से किसी को चुभन होती है तो मैं क्या करूं। महाविकास आघाडी का नेतृत्व सामूहिक नेतृत्व कर रहा है। उद्धव ठाकरे बड़े नेता हैं और शिवसेना के प्रमुख हैं। उनकी पद और प्रतिष्ठा बहुत ऊपर है। (हमारे खुलासे से) बीजेपी बैकफुट पर चली गई है। उनका नकाब हमने उतार दिया है। राउत ने आगे कहा कि विपक्ष को तोड़ने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस्तेमाल किया जा रहा है और इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल बंगाल, बिहार और महाराष्ट्र में हो रहा है। हम सब इसके खिलाफ मिलकर लड़ेंगे।

खबरें और भी हैं...